भारत की तूती इंग्लैंड के मैदानों में बोली है

0
28

भारत ने ऐजबस्टन में अब तक दस एकदिवसीय मैच खेले हैं जिनमें से सात में उसे जीत और केवल तीन में हार मिली है। उसने 2013 से यहां लगातार पांच मैच जीते हैं जिनमें पाकिस्तान के खिलाफ आईसीसी चैंपियंस ट्रोफी 2013 और 2017 में आठ विकेट और 124 रन की दो बड़ी जीत भी शामिल हैं। लेकिन ऐजबस्टन में भारत का मुकाबला अपने इस चिर-प्रतिद्वंद्वी से नहीं बल्कि मेजबान इंग्लैंड (30 जून) और बांग्लादेश (दो जुलाई) से होगा। इंग्लैंड के खिलाफ भारत ने यहां चार मैच खेले हैं जिनमें से तीन में उसे जीत मिली है। बांग्लादेश को भी भारत ने 2017 में इस मैदान पर नौ विकेट से करारी शिकस्त दी थी।

भारत अपने चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान से 16 जून को ओल्ड ट्रैफर्ड, मैनचेस्टर में होगा जहां उसने 2007 के बाद कोई वनडे नहीं खेला है। इस मैदान पर भारत ने आठ मैचों में से तीन में जीत दर्ज की और पांच में उसे हार मिली है। भारत ने हालांकि विश्व कप 1999 में पाकिस्तान को इस मैदान पर 47 रन से पराजित किया था। मैनचेस्टर में भारत 27 जून को वेस्ट इंडीज से भी भिड़ेगा।

भारत ने 1983 विश्व कप के लीग चरण में इसी मैदान पर कैरेबियाई टीम को 34 रन से हराकर सनसनी फैला दी थी लेकिन इसके बाद दोनों टीमें कभी इस मैदान पर आमने सामने नहीं हुई। विराट कोहली की टीम अपने अभियान की शुरुआत पांच जून को साउथ अफ्रीका के खिलाफ रोज बाउल, साउथम्पटन पर करेगा जिसमें भारतीय रेकॉर्ड तीन मैचों में एक जीत और दो हार का है। भारत ने इस मैदान पर एकमात्र जीत 2004 में कीनिया के खिलाफ दर्ज की थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here