5 नई तहसीलें भोपाल में फाइनल

0
30

राजधानी में पांच नई तहसील बनाने का रास्ता साफ हो गया है। विगत दिनों मुख्यमंत्री कार्यालय से आए एक पत्र के अनुसार भोपाल में आबादी के हिसाब से पांच नई तहसील बनाने का प्रस्ताव मांगा गया था। लिहाजा यह प्रस्ताव जिला प्रशासन ने तैयार कर लिया है लेकिन आचार संहिता के बाद ही यह प्रस्ताव शासन को भेजा जाएगा। नए प्रस्ताव के अनुसार गोविंदपुरा, शहर, बैरागढ़, टीटी नगर, एमपी नगर को तहसील बनाया जाएगा।

42 साल बाद कोलार को अलग तहसील बनाया गया। इसमें एमपी नगर और टीटी नगर का ग्रामीण क्षेत्र भी जोड़ दिया गया है। संभवतः नए तहसील में एमपी नगर और टीटी नगर में भी ग्रामीण क्षेत्र जोड़ा जाएगा ताकि राजस्व का सामंजस्य बना रहे। हालांकि यह कवायद आचार संहिता के बाद ही होगी। इधर, प्रशासन ने नया प्रस्ताव बनाकर तैयार कर लिया है।

वर्तमान में एमपी नगर, टीटी नगर, शहर, बैरागढ़ और गोविंदपुरा सर्किल अवैध रूप से संचालित हो रहे हैं। इनका नोटिफिकेशन नहीं है। 4 साल पहले हुजूर तहसील को तोड़कर नई सात तहसीलें बनाने का प्रस्ताव भेजा गया था, लेकिन सिर्फ कोलार को ही अलग तहसील बनाया गया। मुख्यमंत्री की घोषणा होने के कारण छह तहसीलों को दरकिनार कर सिर्फ कोलार को तहसील बना दिया गया थां इसको लेकर विवाद शुरू हो गया है। एमपी नगर और टीटी नगर वृत्त के कुछ महत्वपूर्ण क्षेत्र इस तहसील में शामिल कर दिया गया है। बागसेवनियां, लहारपुर, जाटखेड़ी, मिसरोद के लोगों को अब राजस्व काम के लिए 15 किलोमीटर दूर बैरागढ़ चिचली जाना पड़ेगा। इस क्षेत्र में रहने वाले करीब एक लाख लोगों को कोलार तहसील की सीमाओं के कारण कठिनाईयों का सामना करना पड़ रहा है।

अब तक एसडीएम का पद नहीं हो पाया स्वीकृत

कोलार तहसील के लिए अब तक एसडीएम का पद स्वीकृत नहीं हो पाया है। लिहाजा हुजूर एसडीएम ही कोलार एसडीएम की जिम्मेदारी संभाल रहे है। शासन से जैसे ही एसडीएम का पद स्वीकृत होगा यहां एक एसडीएम अनुविभागीय अधिकारी की हैसियत से बैठाया जाएगा। लिहाजा अनुविभागीय कार्यालय खोलने के लिए जमीन तलाशकर जल्द से जल्द बिल्डिंग बनाने का काम शुरू हो सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here